रसगुल्ला अपने आप में विश्व प्रसिद्ध है। भारत के व्यंजन में मशहूर कोलकाता का रसगुल्ला अपने आप में बेहद खास है।

यह रसगुल्ला इतना खास है कि इसे जो खाए वह आनंद में आए और जो ना खाए वह अपना लार टपकाए।

रसगुल्ले को भारत का बच्चा-बच्चा जानता है शायद ही कोई होगा जो रसगुल्ला ना खाया हो।

रसगुल्ला  भारतीय व्यंजन में दूध से बनने वाला सर्वोत्तम मिष्ठान हैं।

आज भारत में कुछ असामाजिक तत्व अथवा लालची लोग मिलावटी दूध के द्वारा रसगुल्ले का निर्माण कर देते हैं। जिसके वजह से रसगुल्ला खाने में अब कभी-कभी डर भी लगता है। इसके बावजूद भी मिलावट हर जगह नहीं होता।



भारत का प्रदेश पश्चिम बंगाल जो भारत के पूर्व में स्थित है अपने मिष्ठान को लेकर मशहूर है।

भारत में व्यक्ति बंगाली मिठाई के नाम से जानते हैं। आज भी यदि भारत में मिष्ठान के गुणवत्ता की बात हो तो बंगाल सबसे आगे रहेगा। इसका एक मुख्य कारण भी है कि भारत में बंगाली व्यक्ति हर जगह मीठा खाना पसंद करते हैं।

भारत में दूसरे प्रदेश की अपेक्षा बंगाल में मिष्ठान थोड़े सस्ते और अच्छे गुणवत्ता के साथ मिलते हैं।

इसके लिए भी एक मुख्य कारण है कि बंगाल में मिष्ठान का सबसे अधिक मात्रा में प्रयोग किया जाता है। दूसरे प्रदेश में कुछ खास अवसर पर मिठाई खाया जाता है परंतु बंगाल में एक बंगाली रोज मिठाई खाता है।

मिठाई क्या है अथवा मिष्ठान क्या है? मीठा वो जो खाने में मीठा लगे, सोचने में मीठा लगे ,खाकर समझने में भी मीठा लगे।

भारतीय इतिहास में मीठा खाना काफी प्रचलन में है। कहीं भी कुछ खास देखा नहीं और सुना नहीं कि तुरंत मीठा याद आ जाता है। किसी के भी घर परिवार में कुछ अच्छा हुआ नहीं की चर्चा शुरू हो जाता है “चलो अब कुछ मीठा हो जाए।”

भारत में मीठा हर वर्ग के, हर धर्म के और हर समूह के व्यक्ति खाते हैं।

भारत में मीठा एक प्रकार का नहीं है ,भारत में मिष्ठान का एक दुनिया बसता है। रसगुल्ले से कितने छोटे भाई मिल जाएंगे और कितने बड़े भाई बहन मिल जाएंगे। परंतु रसगुल्ला तो रसगुल्ला है।

किसी के आने से और जाने से। किसी के रहने से अथवा जाने से रसगुल्ले के मर्यादा में कोई फर्क नहीं पड़ता।

क्योंकि रसगुल्ला सिर्फ रसगुल्ला नहीं है, रसगुल्ला तो कोलकाता का रसोगुल्ला है। रसगुल्ले कितने प्रकार के होते हैं यह देखना हो तो आप कलकाते जाओ। जो भी मीठा खाने वाला व्यक्ति होगा अथवा जो कोलकाता जाकर एक बार भी वहां का मिष्ठान भंडार देख लिया हो वह रसगुल्ले को कभी भूल नहीं सकता।

रसगुल्ले से महंगे भी मिष्ठान मौजूद हैं और रसगुल्ले से सस्ते भी मिष्ठान मौजूद है।

एक दृष्टि से रसगुल्ला तो समस्त मिष्ठान भंडार में एक राजा के जैसा है।

रसगुल्ला कहां कहां मौजूद है इसका विस्तार करना बहुत मुश्किल लगता है।

रसगुल्ला तो वह है जो हर जगह पहुंच जाता है।

यदि उसे जगह न मिले तो कभी कभी जबरदस्ती कहीं भी घुस जाता है। रसगुल्ला तो रसगुल्ला है यह बंगाल का रसोगुल्ला है।

2 thoughts on “स्वादिष्ट मिठाई रसगुल्ला। कुछ मीठा हो जाए।Kolkata ka rasgulla.

  1. “यदि उसे जगह न मिले तो कभी कभी जबरदस्ती कहीं भी घुस जाता है।” This rasgulla sounds desperate and attention seeker 🙂

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s